हिन्दी साहित्य की रचनाओं का हिन्दी वेब ब्लॉग

Free Search Engine Submission

अमर शहीद भगत सिंह के पत्र - 1

भगत सिंह समय-समय पर अपने हितैषियों को पत्र लिखते रहते थे। उन पत्रों से उनकी देशभक्ति, त्याग भावना और स्वदेश के लिए सर्वस्व अर्पित करने की दृढ़ कामना का परिचय मिलता है। अमर शहीद भगत सिंह के पत्र भगत सिंह का विवाह तय कर देने के सम्बन्ध में पिता का पत्र प्राप्त करने के बाद भगत सिंह द्वारा लिखा गया पिता के नाम पत्र

भगत सिंह का विवाह तय कर देने के सम्बन्ध में पिता का पत्र प्राप्त करने के बाद भगत सिंह द्वारा लिखा गया पिता के नाम पत्र :-

====================================================================

पूज्य पिताजी,

आपका पत्र पढ़कर बड़ा दु:ख व आश्चर्य हुआ, जब आप जैसे तपे हुए देशभक्त और धीर पुरुष भी छोटी-छोटी बातों से विचलित हो सकते हैं तो साधारण मनुष्यों की तो बात ही क्या है?

मैं जानता हूँ मेरे यहाँ रहने से मुझे विवाह करने के लिए तरह-तरह से विवश किया जायेगा। इसलिए मैं इस स्थान को छोड़कर अन्यत्र कहीं जा रहा हूँ। आपके आशीर्वाद से एफ. ए. पास कर चुका हूँ। मैं आशा करता हूँ कि आपके आशीर्वाद और भगवान की कृपा से मुझे सफलता प्राप्त होगी।

साथ ही आपकी आज्ञा न मानने का भी मुझे अत्यन्त दु:ख है, किन्तु विवाह का बन्धन मेरे सारे कार्यक्रम को नष्ट कर देगा। इसलिए मैं विवश हूँ और आशा करता हूँ कि आप मेरी इस धृष्टता को क्षमा करेंगे।

आपका पुत्र 
भगत सिंह

एक टिप्पणी भेजें

बनारसी साड़ियाँ खरीदें केवल - Laethnic.com/sarees

योगदानकर्ता

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget